पहेलियाँ created by Nishant Sharma - #WeekendFun

Today we played a very different game wherein one person gave a secret word to another member for creating a 'Paheli' for that word. Then others would try to guess the name. While playing this game during the weekend, we came up with following Pahelis. Just have a look and try to answer :)

#१ गोदी में दोस्त के चढ़ कर, सारा दिन में काम करता ।
देश हो या विदेश हो कोई, सबसे जोड़े रख्ता . 
ऑफिस हो या घर हो, सब जगह काम आता। 


#२ सबके पेट में भरता हूँ , म्यूजिक भी प्ले  करता हुँ. 

#३ एक शतक नहीं हुआ है मुझे, कहानियां सदियों की याद मगर. 
बिना थके में काम करूँ, हर किसी की मदद करु

#४ बादल जैसा हल्का मैं 
थके हुंओं को आराम हु देता, बच्चों के लिए शस्त्र भी हूँ.
रोज़ रात में काम हूँ  आता।  

#५ गोल-२ हैं  आखें मेरी , खड़े हुए से कान।  
ढूंढते रहो दिन भर मुझको , कभी ना आयुं हाथ।  

Share your answers through comments and also share your suggestions to refine them further.

No comments:

.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...